Sunday, December 22, 2019

Dard - E - Dil | Super Hit Sadabahar Song I Lyrics I जुबाँ पे दर्द भरी दास्तान चली आयी I Mukesh

जुबाँ पे दर्द भरी दास्ताँ चली आयी
जुबाँ पे दर्द भरी दास्ताँ चली आयी
बहार आने से पहले फिजां चली आयी
जुबाँ पे दर्द भरी दास्ताँ चली आयी
ख़ुशी की चाह में मैंने उठाये रंज बड़े
ख़ुशी की चाह में मने उठाये रंज बड़े
मेरा नसीब के मेरे कदम जहां भी पड़े
ये बदनसीबी मेरी भी वहां चली आयी
जुबाँ पे दर्द भरी दास्ताँ चली आयी

उदास रात है वीरान दिल की महफ़िल है
उदास रात है वीरान दिल की महफ़िल है
ना हमसफ़र है कोई और ना कोई मंजिल है
ये जिंदगी मुझे लेकर कहाँ चली आयी
जुबाँ पे दर्द भरी दास्ताँ चली आयी

बहार आने से पहले फिजां चली आयी
बहार आने से पहले फिजां चली आयी

Zuban Pe Dard Bhari Dastaan Chali Aayi
Mukesh
Movie: Maryada ( 1971)
Music: Kalyanji Anandji
Lyrics: Anand Bakshi
Category
Music
Suggested by saregama
Album
Mukesh - Zuban Pe Dard


Loading...

No comments:

Recent Comments