Sunday, April 5, 2020

भूख : 4 बच्चों के साथ माँ की आत्महत्या, थू है ऐसी व्यवस्था पे

SD24 News Network
दुखदःघटना देखकर आज दिनभर मेरी आत्मा रोती रही कि काश यह नशा न होता तो शायद यह घटना न होती । ये माँ अपनी 4 बच्चियों के साथ जहर न खाती । कितना दर्द हुआ होगा इस माँ व बच्चियों को जहर खाने के बाद । कब समाज का बुद्धिजीवी वर्ग इस नशे के खिलाफ एक साथ आयेंगे ?
कौन है आज जिसकी आँखो से आँसू न निकले..

सबसे पहले इस आत्महत्या के लिए इसके पडोसी जिम्मेदार है । क्यूंकि जिस परिवार पर इतनी नौबत आती है और पड़ोसियों को पता नहीं होता ऐसा हरगिज नहीं है । 100% प्रतिशत पता होना ही है बावजूद इसके इनको खाने को तक नहीं देना यह पड़ोसियों की मानसिकता को दर्शाता है । इसलिए पडोसी जिम्मेदार है ।

(साथियों, अपने इलाके की गतिविधियाँ, खबरे, लेख, अपने इलाके की खासियत, माहौल, जानकारी हमें भेजे, चुनिंदा साहित्य को प्रकाशित किया जाएगा socialdiary121@gmail.com

दूसरा इनके गाँव के मुखिया जो इन बेबस बेसहारा और गरीब मजदूरों का मताधिकार लेकर ग्राम प्रधान बनते है और बाद में इन लू को भूल जाते है । तीसरा जिम्मेदार है राज्य और देश की सरकार । गरीब, बेबस, असहाय लोगों के लिए करोड़ों का बजट पास तो करती है लेकिन इन तक पहुंचाने के लिए ऐसी कोई व्यवस्था नहीं करती जिससे ऐसे लोगों पर यह वक्त ना आये । (संपादक)

Abhishek Kumar लिखते है, थू है ऐसी प्रगति पे, थू है ऐसी सरकार पे, थू है ऐसी सोच पे, आज दिए जलाओ क्यों कि भारत मे आम लोगो को, किसानों को, मजदूर, गरीबो को भुखमरी से जहर खाकर आत्महत्या करानेवाली दलिन्दर व्यवस्था की सोच जो आपको नचा रहा है ।
उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिला के शांतिनगर में एक माँ ने गरीबी से तंग आकर अपनी चार बेटियो के साथ जहर खा कर जान दे दी है । सच्चाई को कब तक छुपाओगे ? लोग भुखमरी पर आ गए है । आखिर यह सरकार कब तक लूटती रहेगी यहां लोग भूखे मर रहे है । और यहां के लोग बोल रहे है भारत प्रगति कर रहा है । तो थू है ऐसी प्रगति पे और थू है ऐसी सरकार पे ।

कोरोना से तड़पकर मरने के बजाए भारत मे उस मनुवादी मानसिकता से लड़ते-लड़ते मरना फक्र की बात होगी जो मानसिकता और उसकी सोच जिस सोच में भारत के बहुजन मूलनिवासी समाज का कोई स्थान नही है, वो विदेशो से चार्टर्ड प्लेन से उस एलीट क्लास के तत्सम ऊँची जातियों को लाने का इंतजाम तो करता है । लेकिन भूख प्यास से तड़प कर दम तोड़ रहे मूलनिवासी बहुजन समाज के लिय ना तो कोई संवेदना है ना योजना । लोग कोरोना होने पर मर ही जायंगे यह निश्चित नही है । लेकिन इस देश के बहुजन मुलनिवाशी समाज को मारने की तैयारी जरूर कर ली गई है।
-Abhishek Kumar (सामाजिक कार्यकर्ता है उनके नी विचार है)
(विशेष सुचना- प्रिय पाठक मित्रों, यह खबर फरवरी 2020 की है, खबर फेक नहीं है, हमने फरवरी की खबर मार्च में प्रकाशित की ऐसा भी नहीं है, ऐसी घटना के लिए किस हद तक कौन जिम्मेदार हो सकता है इसपर विचार रखे है, क्यूंकि हर कोई हर विषय पर सरकार को ही जिम्मेदार टहराता है जो सरासर गलत है, हमें कई ईमेल प्राप्त हुए है इसलिए सुचना अपडेट करनी पड़ी, धन्यवाद)

18 comments:

Unknown said...

A sab modi ke baje se ho raha hai

R N Jha said...

In a democracy only the neighborhood awareness and apt responses on time could be the unfailing guarantee against starvation. Please begin everyone right.

Unknown said...

mAHAAN PATRAKAR MAHODAY...GHATNA STHAL KI JANKARI DIJIYE...GAON, MUHALLA, SHAHAR..KUCHH TO LIKHIYE...HAWA ME KHABAR NAHI CHALTI...AFWAAH CHALTI HAI..

SD24 News Network said...

Thanks Sir your Right

Unknown said...

Thu to tere per hai

Unknown said...

Very old pic. Don't spread panic in this time. Fake portal. Agar dusra kam nehi he to so jao. But don't share gake news.

Unknown said...

Fake news

Unknown said...

Pagal hai kya

Abhishek Seth Bharat said...

क्या मजाक बना रखा है तुमलोगों ने न्यूज़ पोर्टल का। पूरी तरह से फेक न्यूज़ है। ग़ज़ब की।पत्रकारिता है भाई।

Goel said...

Haha Journalism! No head No toe.

4 bache paida karne se pehle socha, kon palega, Nasha kaise karne lage (kisne karaya, kiski galti), Aajkal Padosi ko sirf boo se pta lagta hai koi mara hai, no love left in society ( kiski Galti) i think sab sarkar ki galti hai, hai na?

SD24 News Network said...

प्रिय पाठक मित्रों, यह खबर फरवरी 2020 की है, खबर फेक नहीं है, हमने फरवरी की खबर मार्च में प्रकाशित की ऐसा भी नहीं है, ऐसी घटना के लिए किस हद तक कौन जिम्मेदार हो सकता है इसपर विचार रखे है, क्यूंकि हर कोई हर विषय पर सरकार को ही जिम्मेदार टहराता है जो सरासर गलत है, हमें कई ईमेल प्राप्त हुए है इसलिए सुचना अपडेट करनी पड़ी, धन्यवाद

SD24 News Network said...

प्रिय पाठक मित्रों, यह खबर फरवरी 2020 की है, खबर फेक नहीं है, हमने फरवरी की खबर मार्च में प्रकाशित की ऐसा भी नहीं है, ऐसी घटना के लिए किस हद तक कौन जिम्मेदार हो सकता है इसपर विचार रखे है, क्यूंकि हर कोई हर विषय पर सरकार को ही जिम्मेदार टहराता है जो सरासर गलत है, हमें कई ईमेल प्राप्त हुए है इसलिए सुचना अपडेट करनी पड़ी, धन्यवाद

sschouhan727 said...

थू तो तुम जैसे लोगो पर है जो लोगो को सिर्फ और सिर्फ अपने फायदे के लिए भड़काते हो,

आप क्या चाहते हो सरकार घर घर घूमे खाना लेकर, क्या सरकार का और कोई काम नही है ।
कम से कम अभी तो देश हित में सोचो अपनी जेबे बाद में भर लीजिएगा ।

इतनी सुविधाएं दिए है सरकार एक फोन करो और राशन घर में पहुंचा के जाते है।।

मौत का कारण कोई और रहता है और अपनी ओछी सोच और अपनी स्वार्थ के लिए कुछ भी अनाप शनाप लिख देते हो।।

हम जनता जानते है कि भारत क्यू पिछड़ा है, वजह तुम्हारे जैसे ही घटिया मिडिया कर्मियों की वजह से, अगर सच्चाई लिखने का दम होता तो इंडिया में इतना भस्ताचरी नहीं होते।।

सरकार के हाथ में नहीं होता बदलाव लाना , बदलाव अगर ला सकते है तो वो है , सच्चे खबर जिन्हें सिर्फ आप लोग कर सकते हो ।

हर कोई को पता है आज एक अखबार बाटने वाला भी हप्ता वसूलते है।।
झूठी खबर देने के लिए हमे तो शर्म आती है आप जैसों के कारण ।।

जय राम जी की��

Unknown said...

We must report on this news !
Totally panic and anti national

Unknown said...

Are sahb ye bataiye har gari vaikti k phon nhi hota aur hoga bhi to balance nhi hoga aur har kisi ko ye v nhi PTA hota khana madat kaon karega unhe no v nhi malum hota sarkari yojna se Jada achha to am log Seva Kar rahe hai.ap sarkari badai isliye Kar rahe hai q ki apke pas ais samsya nhi haiapko kuchh bolne se pahle halt ko samjho vaise vi sarkari ko is samay yojnao ko logo Tak vaktigat rip se phuchana hoga..

Unknown said...

Sirji bchhe pads karte vakt ma ye nhi sochti ki use kaon palega vo ye sochti hai ki ek Jo paida horaha vo jindgi paye aur use ye v nhi prathna ki Lock down hoga sir vo jaise vi pal rahi thi apne bachho ko aur bada vi ki tha par lockdown ki vjh se vo much karnhi Pai isliye ye hua hai..are thoda insan ki tarah socho.

Pardhan said...

Ye sab news tum galat time pe post karrahe ho,feb ki news april me post karne ka.kya matlab yahi ki tum desh virodhi ho.tum pe case file hona chahiye bhadkane or hinsa ke liye ese news wale ko jail me band kar dena chahiye jo public ko gumrah kare.

Unknown said...

Aap ko pata bhi h ki Aap faltu ki afwah ko es time badhawa de rahe h Aap ka office Kaha PAR h pls inform kariye Taki Aap se in future mulakat ho paye Aur Aap ko Mai media act ko samjha saku warna Aap to Garo me baithe rahege log afwah ko le kar udhta rahege

Recent Comments