sd24 news network, provides latest news, Current Affairs, Lyrics, Jobs headlines from Business, Technology, Bollywood, Cricket, videos, photos, live news

ru

Wednesday, June 23, 2021

प्रथा : यहाँ आज भी शादी के बाद 5 दिन दुल्हन को रहना पड़ता है नंगा

यहाँ आज भी शादी के बाद 5 दिन दुल्हन को रहना पड़ता है नंगा

SD24 News Network - प्रथा : यहाँ आज भी शादी के बाद 5 दिन दुल्हन को रहना पड़ता है नंगा

शादी को लेकर हर देश में अलग-अलग कानून होते हैं। लेकिन हमारे देश में कई राज्य ऐसे भी हैं जहां शादी के समय या शादी के बाद बहुत ही अजीबोगरीब रीति-रिवाज और परंपराएं हैं। इसी तरह कुछ जगहों पर दहेज प्रथा अभी भी खुली है, लेकिन राज्य में यह बहुत पुराना होने के कारण ग्रामीण इस परंपरा को बंद भी नहीं करते हैं।

लेकिन इस सब से कोई और पीड़ित नहीं है। इससे केवल महिला को ही दर्द होता है। भारत के हर राज्य में अलग-अलग समुदायों के लोग रहते हैं। इन सभी विभिन्न समाजों के लोगों की कई अलग-अलग परंपराएं और मानदंड हैं। पुराने लोगों द्वारा बनाई गई या पूर्वजों से चली आ रही परंपराओं को कोई भी नकारता नहीं है।

कुछ लोग इसका विरोध करते हैं तो कुछ लोग इस अंधविश्वास के शिकार हो जाते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही अजीबोगरीब तरीके के बारे में बताने जा रहे हैं। और इस जानकारी को पढ़कर आप हैरान रह जाएंगे। विवाह दुनिया में सबसे पवित्र रीति-रिवाजों में से एक है, और इसे कई अलग-अलग तरीकों से किया जाता है।

हिंदू धर्म में विवाह क्षण को देखकर किया जाता है। शादी को लेकर हर धर्म और हर देश और विदेश में अलग-अलग परंपराएं होती हैं, लेकिन आज हम भारत के एक ऐसे गांव की बात करने जा रहे हैं जहां अजीबो-गरीब रिवाज देखे जाते हैं। इस गांव में शादी के बाद दुल्हन को 5 दिन तक नंगा रखा जाता है। इस गांव में यह परंपरा सालों से चली आ रही है। जिसमें पत्नी को शादी के बाद नग्न रहना पड़ता है।

हिमाचल प्रदेश के गांवों में यह अजीबोगरीब प्रथा सदियों से चली आ रही है। इस प्रथा में अकेले लड़की को अजीबोगरीब नियमों का पालन नहीं करना पड़ता है। लेकिन पुरुष शादी के 5 दिन बाद तक शराब नहीं पी सकते। साथ ही पति-पत्नी आपस में मजाक नहीं कर सकते और पत्नी को पूरे 5 दिन तक नंगा रखा जाता है।

इसके अलावा दुल्हन को शादी के बाद कई पाबंदियों में बांधा जाता है, जिसमें से एक के मुताबिक महिलाएं सिर्फ ऊनी कपड़े ही पहन सकती हैं। इस गांव में भगवान के डर से इन प्रथाओं का अभ्यास किया जाता है। ग्रामीणों का मानना ​​है कि अगर वे इन प्रथाओं का पालन नहीं करते हैं, तो भगवान उनसे नाराज हो जाएंगे और गांव पूरी तरह से नष्ट हो जाएगा।

भगवान के इसी भय के कारण श्रावण मास के दिन पति-पत्नी को एक दूसरे से दूर रखा जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस गांव में सदियों से यह परंपरा चली आ रही है. लोग इस देवता को भय और आस्था के कारण मानते हैं। इन गांवों के लोग अंधविश्वास से इतने भरे हुए हैं कि वे यह भी नहीं सोचते कि दुल्हन को नग्न रखने से कौन सा देवता प्रसन्न होगा।

गांव की सभी महिलाओं को इस प्रथा का पालन करना चाहिए। नहीं तो उनका और उनके परिवार का बहिष्कार कर गांव से निकाल दिया जाएगा। इसी तरह हमारे देश में कई जगह हैं जहां भगवान के नाम पर अजीबोगरीब प्रथाएं मानी जाती हैं और उनके नाम पर निर्दोष लोगों का शोषण किया जाता है।

कुछ जगहों पर दुल्हन को अपना पति चुनने का मौका नहीं दिया जाता है, लेकिन कई गांवों में दूल्हे को अपनी मर्दानगी साबित करने के लिए परीक्षा देनी पड़ती है। भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में कब तक लोग इन अंधविश्वासों के शिकार होते रहेंगे पता नहीं।

इससे छुटकारा पाकर ही भारत जैसा अंधविश्वासी देश आगे बढ़ सकता है। नहीं तो देश बाहर से तरक्की करेगा लेकिन देश अंदर से कमजोर रहेगा और अंधविश्वास में पड़ जाएगा। वैसे भी सभी को यह समझना चाहिए कि खुद को चोट पहुँचाने से भगवान प्रसन्न नहीं हो सकते

No comments:

If you haven't seen this then your life is meaningless.

Recent Comments