sd24 news network, provides latest news, Current Affairs, Lyrics, Jobs headlines from Business, Technology, Bollywood, Cricket, videos, photos, live news

ru

Rumble

Click

Wednesday, January 12, 2022

सुहागरात का दर्द मैं आज तक नहीं भूली ।। I have not forgotten the pain of honeymoon till today ।।

SD24 News Network - सुहागरात का दर्द मैं आज तक नहीं भूली ।। I have not forgotten the pain of honeymoon till today ।।

मेरी आयु अड़तीस वर्ष की है। और मैं एक विवाहित व्यक्ति और दो बच्चों का पिता हूं। आज से 3 साल पहले की कहानी मैं आपको बताने जा रहा हूं। कैसे एक 17-18 साल की लड़की को मुझसे प्यार हो गया। मैंने उसे समझाने की पूरी कोशिश की। लेकिन वह नहीं मानी। मैंने उसे हर तरह से समझाने की कोशिश की लेकिन वह मेरे प्यार में पागल हो गई थी और नहीं मान रही थी।

सुहागरात का दर्द मैं आज तक नहीं भूली ।। I have not forgotten the pain of honeymoon till today ।।

मुझे गलत मत समझना क्योंकि मैं उनके पिता जैसा था। वह लड़की भी मेरी बेटी जैसी थी। लेकिन उस लड़की का क्या हुआ, मुझे नहीं पता। वह मुझे पूरे दिल से प्यार करने लगी। मुझे इस बारे में तब पता चला जब उन्होंने खुद मुझसे कहा कि मैं तुमसे बहुत प्यार करने लगा हूं। मैं उसकी बात सुनकर दंग रह गया और सोचने लगा कि मैं सपना तो नहीं देख रहा।

वह लड़की एक नवयुवक थी और बहुत सुंदर भी थी। मैं सोचने लगा कि मैं इससे 1 गुना बड़ा हूं और यह लड़की मुझसे क्या कह रही है। मैंने उसे समझाने की कोशिश की। मैंने उसे क्या बताया, अब मैं आपको बता रहा हूं।

मैंने उसे समझाया कि तुम हमारी उम्र के किसी को चिढ़ाओ। क्योंकि मैं तुम्हारे पिता की उम्र का हूँ। तो उन्होंने बड़े ही सरल तरीके से जवाब दिया कि प्यार और दोस्ती की कोई उम्र नहीं होती। मैंने कहा हाँ प्यार की कोई उम्र नहीं होती लेकिन पुराने ढहते भवनों के साथ प्यार और दोस्ती कभी नहीं करनी चाहिए। नहीं तो तुम्हारे सपने उसी इमारत में दब जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्यार एक पल के लिए ही होता है, जिसे सच्चे प्रेमी लाखों साल तक जीते हैं।

उसका जवाब सुनकर मैं सोच में पड़ गया कि वह मुझसे ज्यादा बुद्धिमान दिखती है। फिर मैंने उससे कहा कि ऐसा नहीं हो सकता, मैं तुमसे प्यार नहीं कर सकता। क्योंकि तुम मेरी बेटी जैसी हो। बेटी का नाम सुनकर उसने मुझसे कहा कि तुम मुझे बेटी कह रही हो और मैंने तुम्हें अपना बॉयफ्रेंड माना है।

फिर मैंने कहा कि अपनी उम्र के लड़के को देखकर उसे अपना बॉयफ्रेंड बना लेना। लेकिन मुझसे इस तरह बात मत करो। उसने कहा कि मैं अपना प्यार कभी किसी और को नहीं दूंगी। मुझे अपने जीवन में पहली बार तुमसे प्यार हुआ है और आगे भी करता रहूंगा। तुम मुझे प्यार करो या नहीं, लेकिन मैं तुम्हें हमेशा प्यार करूंगा। उसे मनाने की मेरी सारी कोशिशें नाकाम रहीं। और ना चाहते हुए भी मुझे उसका बॉयफ्रेंड बनना पड़ा।

शुरू में मैंने उस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि मैं भी उसे पसंद नहीं करता था। मैं भी एक शिक्षक था, इसलिए मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि मैं अपने करियर को लेकर ज्यादा चिंतित था। लेकिन धीरे-धीरे उस लड़की ने मेरा दिल पत्थर की तरह पिघला दिया। और मेरा ध्यान आकर्षित करने लगा। मुझे अपनी सोच बदलनी पड़ी।

वह लड़की मुझसे इतना प्यार करने लगी कि मेरी समझ ही खत्म हो गई। और मैं भी उनके जैसा हो गया। इसमें मेरी गलती नहीं थी। मैंने उसे हर संभव तरीके से समझाने की कोशिश की। लेकिन उस लड़की को सच में मुझसे प्यार हो गया था। वह समझ नहीं पाई। और उसने मुझे जान से मारने की धमकी भी दी थी। इसलिए मुझे उसके साथ वैसे ही रहना पड़ा जैसे वह चाहती थी।

वह रोज मेरे पास आने लगी लेकिन मैंने उसे छुआ तक नहीं। उस लड़की का दिल इतना साफ था कि वो मुझसे कुछ भी कह जाती थी और बिल्कुल भी शरमाती नहीं थी।

मुझे उसे छूने से भी डर लगता था, लेकिन वो पूरी ताकत से मुझसे लिपट जाती थी। ऐसा करते हुए एक दिन ऐसा आया कि मैंने भी अपना आपा खो दिया। उसने मुझे मना भी नहीं किया। मेरे दिमाग ने काम करना बंद कर दिया और मैंने उसकी सलवार उतार दी।

No comments:

If you haven't seen this then your life is meaningless.

Recent Comments